मुंबई। समाजसेवा से भवन निर्माता बने सीए विजय त्रिपाठी ने अपने जन्म दिन को कुछ अनोखे अंदाज मे मनाया। सीए विजय त्रिपाठी ने वैदु वेलफेयर एसोसिएशन के बच्चों के साथ अपना 43 वा जन्मदिन मनाया। उन्होंने बच्चों के साथ केक काट कर और बच्चों की नोट बुक, टिफिन, पेश पेंसिल, रबर, शॉपनर और स्केल जैसी शैक्षणिक संबंधित वस्तु देकर उन्हे शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित करते हुए उज्जवल भविस्य की प्रेरणा देते हुए अपने ज्ञान को सीए विजय त्रिपाठी ने साझा किया। गौरतलब है कि सीए विजय त्रिपाठी अपने जीवन के कई उतार-चढाव के बावजूद कभी भी अपने कर्तव्यों से डगमगाए नहीं। उन्होंने अपनी हिम्मत और काबिलियत के दम पर चार्टर्ड एकाउंटेंट बने और साथ ही साथ आज कंस्ट्रक्शन की दुनिया मे मुंबई के दहिसर इलाके मे सबसे सस्ता घर मुंबई उपनगर मे एवीए लाईफ स्पेस के द्वारा बनाये जा रहे गुरु द्वारका प्रोजेक्ट मे वन बीएचके 82 लाख और 2 बीएचके 92 लाख में उपलब्ध कराना, ये सिर्फ विजय त्रिपाठी की दूरदर्शिता, आलोक चौबे के नेतृत्व और युवा भाजपा नेता एड अखिलेश चौबे के मार्गदर्शन में ही संभव हो पाया है।

यह तभी संभव हुआ, जब कवि ह्दय आलोक चौबे और समाज के हितों को प्राथमिकता देने वाले युवा ह्रदय सम्राट और भाजपा के महाराष्ट्र सचिव एड अखिलेश चौबे का भरपूर साथ तथा हरसंभव सहयोग उन्हें मिला। यह भाजपा के महाराष्ट्र सचिव एड अखिलेश चौबे की ही सोच का नतीजा हो सकता है। ये है सीए विजय त्रिपाठी के समाज से जुड़ाव की कहानी। इतनी कम उम्र मे लोगो की सेवा के साथ-साथ समाज मे अपनी कामयाबी की दास्तां बनाने वाले शक़्स विजय त्रिपाठी आज किसी पहचान के मोहताज नही है। बस मिट्टी से जुड़ाव ही इनकी अपनी पहचान है। बता दें कि विजय त्रिपाठी अपनी इस तरक्की का श्रेय अपने बड़े भाई राम शंकर त्रिपाठी को देते है, जिन्होंने हमेशा आगे बढ़ने के सिद्धांतों के साथ परोपकार की भावना से तरक्की के मार्ग को अपनाने की सीख उन्हें दी है।

Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *