गुजरात में विधानसभा चुनाव 2022 के लिए आचार संहिता लागू हो गई है। परंतु उस समय हड़कंप मच गया जब गुजरात के पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र के पालघर जिले में 8 करोड़ रुपये के नकली 2000 नोटों के 400 बंडल मिले। सूत्रों के मुताबिक इन नकली नोटों का निर्माण पालघर की ही एक फैक्ट्री में किया गया था, और गुजरात में चुनाव के दौरान इसे बांटा जाने वाला था।
महाराष्ट्र पुलिस ने महाराष्ट्र राज्य के पालघर जिले में एक नकली नोट छपाई नेटवर्क का भंडाफोड़ किया है, जो गुजरात के वलसाड जिले की सीमा से सटा हुआ है, और 2000 रुपये के नोट के 400 बंडल यानी 8 करोड़ रुपये के नकली नोटों को जब्त किया है।
जबकि महाराष्ट्र की ठाणे पुलिस ने 2000 के नकली नोटों के 400 बंडल जब्त कर एक बड़ी कामयाबी हासिल की है। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार ठाणे की पुलिस टीम ने सूचना के आधार पर घोड़बंदर रोड पर जांच पड़ताल की। इस जांच-पड़ताल के दौरान ठाणे पुलिस की टीम ने इनोवा कार सवार दोनों लोगों को रोक लिया और कार की तलाशी ली। जिसमें 2000 रूपये नकली नोट के 400 बंडल मिले।
पुलिस के जांच में पता चला कि ये नकली नोट पालघर के एक इंडस्ट्रियल एस्टेट के एक सेक्शन में छापे गए थे। जहां से पुलिस ने नकली नोट छापने के लिए रद्दी कागज, प्रिंटर, स्याही समेत अन्य चीजें जब्त की है। फिलहाल महाराष्ट्र पुलिस और अन्य एजेंसियों ने पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है। जिसमें यह नोट जिस फैक्ट्री में बनाया गया था वहां से और कितने नोट छापे गए हैं। कहाँ भेजा गया है? उस दिशा में पुलिस ने जांच का दायरा तेज कर दिया है।
गौरतलब है कि अब गुजरात में विधानसभा चुनाव की तिथि घोषित होने के बाद से चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है। राज्य की सीमा पर पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों को तैनात किया गया है। उस वक्त सूत्रों से पता चला था कि इन नकली नोटों को गुजरात में बांटने की मंशा से तस्करी करना था या नकली नोट छापने वालों और उनसे खरीदने वालों का था। जब पुलिस ने किस दिशा में जांच तेज कर दी है।
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *