लालू की रिहाई का गणित- पं अजय भट्टाचार्य

चुनावी सभाओं में राजद नेता तेजस्वी यादव जिस विश्वास के साथ यह कह रहे हैं कि चुनाव परिणाम से पहले पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत पर रिहाई हो जाएगी उसका गणित साफ है। चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू की ओर से दुमका कोषागार से अवैध निकासी के (RC 38A/96) मामले में झारखंड उच्च न्यायालय में जमानत याचिका दायर की गई है। इस मामले में 6 नवम्बर 2020 को आधी सजा (42 महीने) पूरी हो जाएगी। सीबीआई की विशेष अदालत ने इस मामले में लालू को 07 साल की सजा सुनाई थी। इस मामले में 1997, 2013 और मौजूदा समय में कारावास में दिन काट रहे सजा की अवधि को जोड़कर 6 नवम्बर तक 42 महीने का कारावास पूरा हो जाएगा, जो अदालत द्वारा दी गयी सजा की अवधि की आधी है।

देवघर और चाईबासा के जिन दो मामलों में उच्च न्यायालय से जमानत मिली है उसमें अदालत के आदेशानुसार जमानत बांड भर दिया गया है जिसे कोर्ट ने स्वीकार लिया है। दुर्गा पूजा की छुट्टी के बाद 06 नवम्बर को जमानत की अर्जी पर सुनवाई संभावित है और उन्हें उम्मीद है कि झारखंड उच्च न्यायालय से उस दिन जमानत मिल जाएगी तो फिर लालू प्रसाद कारावास से बाहर आ सकेंगे क्योंकि अन्य मामलों में पहले ही जमानत मिल चुकी है।

Print Friendly, PDF & Email

Shyamji Mishra Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मुंबई में ड्रोन या मिसाइल से आतंकी हमले की आशंका, अलर्ट जारी

Tue Oct 27 , 2020
भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई में बड़ा आतंकी हमला हो सकता है। राज्य के खुफिया विभाग ने महाराष्ट्र सरकार को हमले की आशंका के इनपुट दिए हैं। हमले के लिए ड्रोन या मिसाइल का इस्तेमाल किया जा सकता है। विभाग के पत्र के बाद मुंबई पुलिस ने अलर्ट जारी किया […]