पं अजय भट्टाचार्य बिजूका स्वागत

ग्रामीण भारत में खेतों में आदमकद पुतले पशु-पक्षियों को भगाने के लिए लगाये जाते हैं जिन्हें बिजूका कहा जाता है। बिहार के गया जिले के वजीरगंज विधानसभा क्षेत्र के करजरा गांव में नेताओं के स्वागत के लिए खेतों में बिजूका खड़े दिखाई दे रहे हैं। गांव में प्रत्याशी वोट मांगने आए तो उनका ध्यान इस पुतले पर जाए और पुतले के गले में लटके मांग पत्रों पर ध्यान आकृष्ट हो। इन पुतलों पर सरकार और स्थानीय नेता जो चुनाव में वोट मांगने आते हैं उनसे सौर ऊर्जा लगाने की मांग की जा रही है। गांव में बिजली की आंख मिचौली से गाँव वाले परेशान हैं और खेतों में पटवन भी नहीं हो पाता है। ऐसे में इस बार के चुनाव में इस समस्या को उठाने के लिए ग्रामीणों ने यह तरीका अपनाया है। गाँव में अक्षय ऊर्जा की मांग लंबे समय से की जा रही है। गांव में बिजली ही सिंचाई का एकमात्र साधन है, बारिश कब हो कोई भरोसा नहीं होता। गांव में बिजली आंख मिचौली करते रहती है जिससे बच्चों की पढ़ाई नहीं हो पाती है और महिलाएं घर में कामकाज नहीं कर पाती हैं। बहरहाल ये बिजूके गाँव वालों की कितनी मदद कर पाएंगे यह चुनाव नतीजे तय करेंगे।
Print Friendly, PDF & Email

Shyamji Mishra Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

पं अजय भट्टाचार्य ,खेत चर गई जाँच !

Wed Oct 21 , 2020
चौंकिए मत! हाथरस कांड की जाँच मंडली चंदपा थाना क्षेत्र के बुलगढ़ी गाँव के एक किसान का खेत चर गई है। यह वही खेत है जहाँ पीडिता के साथ कथित जघन्य अपराध घटित हुआ और हाथरस सुर्ख़ियों में आया। 14 सितंबर को दलित युवती के साथ हुई कथित सामूहिक बलात्कार […]