पूर्वांचल के विकास पर चर्चा

पूर्वांचल के विकास पर चर्चा

महाराष्ट्र के शीर्षस्थ हिन्दीभाषी नेता, पूर्व सांसद व राज्य मंत्री श्री रमेश दुबे ने पूर्वांचल के विकास के लिए हिंदीभाषी समाज की एकजुटता का आह्वान किया है। पं. राम सकल तिवारी हाई स्कूल , टिटवाला में मंगलवार, ३१ दिसम्बर को आयोजित पूर्वांचल विकास विकास चर्चा सत्र में उन्होंने कहा कि गांवों से लोगों का विस्थापन हो रहा है, इस परिस्थिति को रोका जाना चाहिए। उन्होंने इस बात को लेकर गहरा दुःख जताया कि पूर्वांचल में जिन उद्योगों-उद्यमों के स्थापना हुई थी, वे भी अनुकूल परिस्थितियां न होने से बंद हैं।

इस अवसर पर चर्चा सत्र की अध्यक्षता करते हुए महाराष्ट्र के पूर्व नगर विकास मंत्री श्री चंद्रकांत त्रिपाठी ने कहा कि पूर्वांचल बहुत लम्बे समय से उपेक्षा का शिकार है। प्रवास और प्रव्रजन की जिंदगी जी रहा है। इस इलाके में स्वरोजगार और स्वावलम्बन को बढ़ावा दिया जाए, और उसे लोगों के रोजमर्रा के जीवन में उतारा जाये तो पूर्वांचल आर्थिक विकास की दिशा में सारे देश की अगुवाई कर सकता है।

इस अवसर पर बोलते हुए शिक्षाविद डॉ. दौलत सिंह पालीवाल ने कहा कि अपने घर-गाँव की समुन्नति के लिए हम लोग जो काम कर रहे हैं, उस बढ़ाने और हो सके तो एक सूत्र में बांधने की जरूरत है।

चर्चा सत्र का आयोजन राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के महासचिव और जाने-माने हिंदीभाषी नेता श्री पारसनाथ तिवारी ने किया था। अपने उद्बोधन में उन्होंने कहा कि पूर्वांचल में आधारभूत संरचनाएं बढ़ी हैं। वहां आर्थिक औद्योगिक निवेश बढ़ाने का यह सही वक्त है। समय विकास और बढ़ाव के लिए पूर्वांचल के लोगों का आह्वान कर रहा है।
चर्चा सत्र ५-६-७-८-९ मार्च, २०२० को जौनपुर-जफराबाद में पूर्वांचल विकास प्रतिष्ठान द्वारा आयोजित किये जा रहे पूर्वांचल विकास शिखर सम्मेलन की तैयारियों के सिलसिले में बुलाया गया था। संस्था के सचिव पत्रकार श्री ओम प्रकाश ने सम्मेलन की रूपरेखा बताते हुए कहा, कि जौनपुर में भगवती तारा, मनसा और नागमाता जरत्कारु की पुनर्प्रतिष्ठा देश के सांस्कृतिक विकास में एक महत्वपूर्ण कड़ी साबित होगी। इस संबंध में उन्होंने नाग सर्किट बनाने और जफराबाद के मनैछा किले क्ले जीर्णोद्धार की भी मांग उठायी।
चर्चा सत्र को अपना दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगदीश सिंह पटेल, श्री दयाशंकर त्रिपाठी, श्री जय प्रकाश मिश्र मिलिंद, श्री प्रकाश मूथा, अधिवक्ता आर बी गुप्ता, श्री रमानाथ तिवारी, श्री सदानंद तिवारी, श्री देवेंद्र तिवारी जैसे जाने-माने लोगों ने सम्बोधित किया। चर्चा सत्र को जनसत्ता के संपादक रहे देश के जाने-माने पत्रकार-संपादक श्री प्रभाष जोशी के भाई श्री गोपाल जोशी ने भी सम्बोधित किया।
सभा का सञ्चालन हिंदी समाज के प्रखर लेखक-विचारक श्री ओम प्रकाश पांडे नमन ने किया।
चर्चा सत्र में श्री गंगा शरण सिंह ने कवि कुंवर नारायण के प्रबंध काव्य आत्मजयी के कुछ अंशों का पाठ किया। सभा में देश के जाने-माने नाट्यकर्मी श्री संदीपन विमलकां नागर को बहुत भावभीनी श्रद्धांजलि दी गयी। देश के जाने-माने सहत्यकार पं. अमृतलाल नागर के नाती श्री संदीपन पूर्वांचल विकास शिखर सम्मेलन के मुख्य आयोजकों में से एक थे।

Print Friendly, PDF & Email

Shyamji Mishra Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

संध्या समूह को उत्कृष्टता पुरस्कार से सम्मानित किया गया

Mon Feb 17 , 2020
मुंबई। वापी की संध्या ओर्गेनिक केमिकल्स प्राइवेट लिमिटेड, वलसाड के एमडी व चेयरमैन कांतिलाल कोली ने महाराष्ट्र इंडस्ट्रियल व इकोनॉमिक डेवलपमेंट एसोसिएशन व एस एम ई चेम्बर आॅफ इंडिया के सहयोग से १५ फरवरी के दिन होटल सहारा स्टार में आयोजित एक कार्यक्रम में भारत सरकार के मिनिस्ट्री आॅफ एम […]