श्री स्वामीनारायण शिक्षा सेवा केंद्र सलवाव ‘शिक्षापत्री’ सभागार तथा फार्मेसी कॉलेज की पांच उन्नत प्रयोगशालाओं का उद्घाटन किया गया।
प्री-प्राइमरी स्कूल फेस्ट ‘2022’ में बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम पेश कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।
वापी। श्री स्वामीनारायण शिक्षा सेवा केंद्र सलवाव संकुल में नवनिर्मित 150 सीटों की क्षमता वाले अत्याधुनिक “शिक्षापात्री” ओडिटोरीयम का पद्मश्री गफुरभाई बिलखीयाना के हाथों व श्रीमती भावनाबेन नानुभाई बांभरोलिया स्वामीनारायण फॉर्मेसी कॉलेज की पांच लेबोरेटरी फॉर्मास्युटिक्स, ह्युमन एनाटॉमी और फिजियोलॉजी, फार्मास्युटिकल केमेस्ट्री, फॉर्मास्युटिकल एनालीसीस व फॉर्माकोगनोसी ऐसे  पांच स्नातक प्रयोगशालाएं सुसज्जित और पुनर्निर्माण के बाद, संस्थान के प्रबंध ट्रस्टी पूज्य पुराणी स्वामी कपिलजीवनदासजी ने इसका उद्घाटन किया।
 इसके अलावा प्री-प्राइमरी स्कूल के 500 से अधिक बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम फेस्ट-2022 प्रस्तुत कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस अवसर पर पूज्य पुराणी स्वामीजी ने आशीर्वाद दिया। पद्मश्री गफूरभाई ने शिक्षापात्री के महत्व को समझाया और इसे हर व्यक्ति के दैनिक जीवन की जड़ी-बूटी के रूप में वर्णित किया। उन्होंने अपने हाथों से इस “शिक्षापत्री” सभागार का उद्घाटन करने पर गर्व व्यक्त किया।
पूज्य कपिल स्वामी जी ने इस मौके पर सम्बोधन देते हुए सुंदर एवं रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले बच्चों एवं उनके शिक्षकों को बधाई देते हुए अभिभावकों से शिक्षा के साथ-साथ देशभक्ति की भावना जगाने का आग्रह किया। समाजसेवी एवं दानदाता भरतभाई टंक उपस्थित रहकर उन्होंने गरीब लड़कियों की शिक्षा के लिए एक बड़ा दान देने की घोषणा की। कच्छी भानुशाली समाज के अध्यक्ष ने भी संस्थान की शिक्षा, अनुशासन और संस्कार के रोपण की अनूठे संगम की प्रशंसा की।
इस अवसर पर बड़ी संख्या में संतों, गणमान्य व्यक्तियों, नेताओं एवं न्यासी श्री बाबूभाई सोडवड़ीया, श्री हरेशभाई बोघानी, मनसुखभाई गोंडलिया, श्रीमती जयश्रीबेन सोडवडीया, श्रीमती दयाबेन बोघानी, श्रीमती योगिनीबेन गोंडलीया तथा कैंपस के एकेडेमिक डायरेक्टर डॉ. शैलेश वी. लुहार, कैंपस एडमिन डायरेक्टर श्री हितेन बी. उपाध्याय, आचार्यश्री डॉ. सचिन बी. नारखेड़े, आचार्यश्री चंद्रवदन पटेल, आचार्यश्री श्रीमती मीनल देसाई, आचार्यश्री आशा दामा, आचार्यश्री रीनाबेन देसाई, आचार्यश्री दक्षाबेन पटेल, आचार्यश्री नीतु सिंह तथा 800 से अधिक अभिभावक उपस्थित थे।
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.