जिला समन्वयक-वी-शिकायत समिति की बैठक की अध्यक्षता वलसाड जिला कलेक्टर श्री क्षिप्रा आग्रे ने की।
वलसाड जिला कलेक्टर श्री क्षिप्रा आग्रे की अध्यक्षता में वलसाड जिला समन्वय-वी-शिकायत समिति की बैठक वलसाड कलेक्टर कार्यालय के हॉल में आयोजित की गयी। इस बैठक की अध्यक्षता में जिला कलेक्टर ने समन्वय समिति के भाग-1 के तहत जिले के पदाधिकारियों द्वारा किये गये निवेदनों की समीक्षा की।
बैठक में उमरगांव के विधायक रमनलाल पाटकर द्वारा जीआईडीसी वापी में अधिग्रहित भूमि के भूखंड की प्रतिपूर्ति न करने के संबंध में, वलसाड प्रांतीय अधिकारी वापी तालुका वापी गांव में जीआईडीसी के लिए अधिग्रहित भूमि नेशनल हाइवे को चार मार्गीय करने के लिए इसे स्थानांतरित कर दिया गया है। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण और जीआईडीसी को इस जमीन की कीमत तय करने के लिए कहा गया है, लागत पर फैसला होने के बाद सरकार को मुआवजे का प्रस्ताव दिया जाएगा और आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.
तुंब 70 नंबर के फाटक से होकर रेलवे बार्डर से बेलुंदपाडा का रास्ता मरम्मत के मामले में जिला कलेक्टर ने इस बाबत एरिया मैनेजर वेस्टर्न रेलवे ने मरम्मत करने की बात कही। विधायक पाटकर के सवाल के जवाब में कि उमरगाम तालुका में कितने प्राथमिक विद्यालय के कमरे जीर्ण-शीर्ण होने के कारण बंद हो गए हैं और क्या इन बंद कमरों के लिए नए कमरे बनाने के लिए कार्रवाई की गई है। वहीं जिला विकास अधिकारी मनीष गुरवानी ने कहा कि 10 कमरे और 145 कमरों का राज्य सरकार द्वारा मंजूरी मिली है और जिला पंचायत के माध्यम से कमरों का संचालन किया जा रहा है। और राज्य सरकार द्वारा निविदाओं को मंजूरी मिलते ही प्रक्रिया तुरंत शूरू की जाएगी।
भाग-2 में जिला कलेक्टर ने सेवानिवृत्त एवं मृत कर्मचारियों के पेंशन प्रकरणों, आगामी 24 माह में सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों के पेंशन प्रकरणों, विभागीय जांच प्रकरणों, सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 के अन्तर्गत आवेदनों के निराकरण की समीक्षा की।
इस बैठक में वलसाड जिला विकास अधिकारी मनीष गुरवानी, जिला पुलिस अधीक्षक राजदीपसिंह झाला, रेजिडेंट अपर कलेक्टर अनसूया आर झा, प्रायोजना अधिकारी ए. के. कलसरिया, वलसाड, पारडी, धरमपुर प्रान्तीय अधिकारी सर्वश्री नीलेश कुकड़ीया, डी. जे. वसावा, केतुल इटालिया, उप वन संरक्षक सामाजिक वनीकरण यदु भारद्वाज, उप वन संरक्षक उत्तर वन विभाग सुश्री निशा राज सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.