शंकर धोध को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए 20 लाख रुपये के कार्य स्वीकृत किए गए।
वलसाड जिले में पर्यटन स्थलों के विकास के संबंध में कलेक्टरश्री क्षिप्रा एस. आग्रे की अध्यक्षता में 23-09-2022 को कलेक्टर कार्यालय में बैठक की गई। बैठक में धरमपुर तालुका के विल्सन हिल, शंकरधोध के पर्यटन स्थल, धरमपुर के कुछ स्थानों, उमरगाम और वलसाड तालुका को पवित्र तीर्थ स्थल के रूप में विकसित करने पर चर्चा की गई।
बैठक में कलेक्टर ने उप वन संरक्षक उत्तर की तरफ से धरमपुर के वाघवल गांव में स्थित शंकरधोध को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के प्रस्ताव के अंतर्गत शौचालय प्रखंड के लिए 10 लाख रुपये, व्यूइंग गैलरी के निर्माण के लिए 5 लाख रुपये व व्यूइंग गैलरी का एप्रोच के निर्माण के लिए 5 लाख रुपये, कुल 20 लाख रुपये तक के कार्यों का स्वीकृत प्रदान किया गया।
वलसाड में पारनेरा डुंगर पर अतिरिक्त विकास कार्यों के लिए प्राप्त अग्रिम 1 करोड़ रुपये के मंजूरी के अंतर्गत कार्यों की आयोजन पर चर्चा कर संबंधित विभागों को आवश्यक निर्देश दिये गये। साथ ही वलसाड विधायक भरतभाई पटेल ने भूतसर में स्थित महालक्ष्मी माता मंदिर और घड़ोई में शिव मंदिर, उमरगाम के विधायक रमनलाल पाटकर ने उमरगांव तालुका भिलाड़ में स्थित भीलकाय माताजी मंदिर, करजगाम में जोगमेलडी माता मंदिर और धरमपुर विधायक अरविंदभाई पटेल ने धरमपुर के धामणी में तुम्ला डुंगर पर स्थित शिवमंदिर बनाकर पवित्र यात्रा धाम के रूप में विकसित करने के लिए किए गए प्रस्तावों पर चर्चा हुई।
इस वलसाड एवं डांग के सांसद डॉ. के.सी. पटेल, उमरगाम विधायक रमनलाल पाटकर, वलसाड विधायक भरतभाई पटेल, जिला विकास अधिकारी मनीष गुरवानी, पुलिस अधीक्षक डॉ. राजदीप सिंह झाला, उत्तर संभाग उप वन संरक्षक निशा राज, रेजिडेंट अपर कलेक्टर ए. आर. जहा सहित प्रवर्तन अधिकारी मौजूद थे।
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.