बाल विकास योजना अधिकारी ने जन आंदोलन के माध्यम से कुपोषण मिटाने का आह्वान किया।
 वलसाड। प्रधानमंत्री का “सही पोषण देश रोशन” के आह्वान को चरितार्थ करने तथा सुपोषित गुजरात के संवेदनशील लक्ष्य को हासिल करने महिला व बाल विकास विभाग गुजरात सरकार वलसाड जिला के कपराड़ा तालुका में संकलित बाल विकास सेवा योजना कपराड़ा घटक-2 द्वारा  काकड़कोपर ग्राम पंचायत में पांचवां राष्ट्रीय पोषण माह 2022 की थीम महिला व स्वास्थ्य अंतर्गत  अतिकुपोषित / कुपोषित बच्चों तथा गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को पोषक किट वितरित करने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।
दानदाताओं द्वारा प्रति लाभार्थी 1 किलो चना, 1 किलो मूंग, 1 किलो मूंगफली, 1 किलो गुड़ और 1 किलो खजूर बांटे गए। इस कार्यक्रम में वाइब्रेंट प्रोडक्ट्स के प्रतिनिधि के रूप में मौजूद श्री डी जे राणा ने बाल स्वास्थ्य के प्रति जागरूक और सक्रिय रहने की अपील की। बाल विकास योजना अधिकारी कपराड़ा घटक-2 सुश्री. विनीताबेन ए. वणवीये पूरे पोषण माह के दौरान कुपोषण के लिए जिम्मेदार कारणों के प्रति जन जागरूकता पैदा कर जन सहयोग के साथ जन आंदोलन के माध्यम से कुपोषण का उन्मूलन करना। साथ ही ममता दिवस पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बहनों एवं अभिभावकों को कुपोषित बच्चों को स्वास्थ्य जांच के बाद जरूरत पड़ने पर बाल कुपोषण उपचार केंद्र (सीएमटीसी) रेफर करने की जानकारी देकर कुपोषण दूर करने का आह्वान किया। इस अवसर पर काकड़कोपर गांव के वाइब्रेंट प्रोडक्ट्स व वॉल प्लास्ट प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड, दाताओश्री और गांव सरपंच गणेशभाई गावित उपस्थित थे।
पूरे कार्यक्रम का संचालन अंभेटी सेजा पर्यवेक्षक टिवंकल विरानी द्वारा किया गया । मोटापोंढ़ा सेजा पर्यवेक्षक निरुबेन पटेल ने धन्यवाद प्रस्ताव दिया। यह कार्यक्रम सुखाला सेजा पर्यवेक्षक रिंकेलबेन अढियोल, कर्मचारीगण और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बहनों के संयुक्त प्रयास से संपन्न हुआ।
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.