गीत, गजल और कविताओं से सजी मन से मंच की महफिल।

मुंबई। अंतरराष्ट्रीय संस्था मकाम ( मन से मंच )का तृतीय वार्षिकोत्सव अजंता पार्टी हॉल में गीत,ग़ज़ल और कविताओं के द्वारा मनाया गया। मकाम के संस्थापक नरेश नाज़, मकाम मार्गदर्शक श्रीमती नियति गुप्ता ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। सारस्वत अतिथि के रूप में सुश्री दिव्या जैन ( पूर्व पत्रकार अंतरंग संगिनी);श्री अभिलाष अवस्थी पत्रकार -साहित्यकार ;श्री हरि मृदुल साहित्यकार-पत्रकार, रेखा ख़ान -सुप्रसिद्ध पत्रकार ;सुश्री कविता सेठ-सुप्रसिद्ध सूफ़ी गायिका ;सुश्री दीप्ति मिश्रा- सुप्रसिद्ध शायरा आदि ने अपनी उपस्थिति से कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई और कवियत्रियों का उत्साहवर्धन किया।


श्रीमती अलका अग्रवाल सिगतिया – अध्यक्ष महाराष्ट्र मकाम ; श्रीमती मंजू लोढ़ा -अध्यक्ष साउथ मुंबई मकाम ;डॉ. शैलेश श्रीवास्तव -अध्यक्ष मुंबई सबर्ब मकाम, अन्नपूर्णा गुप्ता-अध्यक्ष मुंबई सेंट्रल मकाम ,ने कार्यक्रम संयोजन में अपनी भूमिका बड़ी शिद्दत से निभाई और काव्य पाठ भी किया।
सरस्वती वंदना डॉ.शैलेश श्रीवास्तव ने की, वंदना गीत पर अलका अग्रवाल सिगतिया ने नृत्य प्रस्तुत किया।मुदिता अग्रवाल,अनिता विजयवर्गीय और खुशबू मेहता ने भी अपने ख़ूबसूरत नृत्य से समा बांध दिया।बीजल जगड़, अनुराधा सर्राफ,डॉ. वर्षा सिंह,मनवीन कौर पाहवा (अध्यक्ष मकाम औरंगाबाद ),मनिंदर कौर छाबड़ा,मुदिता अग्रवाल, मृदुला मिश्रा, सत्यभामा सिंह, उषा साहू,इंदु झुनझुनवाला (अतिथि मकाम कोलकाता),चन्दा प्रह्लादका (अतिथि मकाम बैंगलुरू),खुशी झा,प्रभा लोढ़ा, मंजू सुराना, सुमन कोठारी, ऋचा सिन्हा, सुमिता केशवा,चन्दा देवपुरा,कामिनी अग्रवाल, रागिनी प्रसाद,बबीता जैन सना,कांता बरमेचा,मीना बाफना आदि ने अपनी कविताओं से हॉल में उपस्थित सभी श्रोताओं को रससिक्त किया।


संचालक की भूमिका बहुत कुशलता से निभाई डॉ. शैलेश श्रीवास्तव, सुनीता मंडेलिया,अनिता विजयवर्गीय और सत्यवती मौर्य ने ,साथ ही काव्य पाठ भी किया।
कार्यक्रम के समापन पर धन्यवाद ज्ञापन किया मृदुला मिश्रा ने।

Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.