कोम्प्रीहेन्सीव होर्टीकल्चर डेवलपमेंट कार्यक्रम अंतर्गत बागवानी की खेती करने वाले किसान आई-खेड़ूत पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
 वलसाड। बागबानी की खेती में लगे किसानों के लिए राज्य सरकार द्वारा चालू वर्ष में बागायत विभाग के अंतर्गत मंजूर किए गए कॉम्प्रीहेन्सीव होर्टीकल्चर डेवलपमेंट कार्यक्रम के तहत आई-खेड़ूत पोर्टल 31-12-2022 तक खुला रखा गया है। जो किसान मित्र बागवानी विभाग की विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाना चाहते हैं, वे ई-ग्राम केंद्र के माध्यम से आई-खेड़ूत पोर्टल पर या व्यक्तिगत रूप से आवेदन कर सकते हैं। बारहमासी फलों के पेड़ लगाने में सहायता के अलावा सिंचाई उपकरण, बागवानी मशीनीकरण, बागवानी बुनियादी ढांचे, वर्मीकम्पोस्ट इकाइयों और प्लास्टिक कवर में विभिन्न दरों पर सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया गया है। इस कार्यक्रम के तहत व्यक्तिगत किसान, एफपीओ, एफपीसी, सहकारी समितियों के सदस्य, कृषि योग्य भूमि रखने वाले पंजीकृत ट्रस्टों को सहायता का लाभ मिलेगा।
इन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए https://ikedut.gujarat.gov.in वेबसाइट पर अपने गांव के ई-ग्राम केंद्र या किसी निजी इंटरनेट पर अथवा नायब बागायत नियामक वलसाड कार्यालय में सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे के दरमियान 7/12 नकल, आधार कार्ड की नकल, जाति प्रमाण पत्र, प्रोजेक्ट प्रपोजल जरूरी भाव पत्रक के साथ राष्ट्रीयकृत बैंक खाते के विवरण के संबंधित घटक में समय पर आवेदन करना होगा। आवेदन करने के बाद आवश्यक सहायक दस्तावेजों के साथ आवेदन का प्रिंटआउट उप निदेशक उद्यान, जिला सेवा सदन-1, प्रथम तल, वलसाड-396001 के कार्यालय में जमा कर देना होगा। आवश्यक दस्तावेजों के बिना और निर्धारित समय सीमा के बाद प्राप्त आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा। किसान मित्रों को इसका विशेष ध्यान रखने को कहा गया है। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए जिला उद्यान विभाग के कार्यालय से फोन नंबर 02632-243183 पर संपर्क किया जा सकता है, यह जानकारी नायब बागायत नियामक वलसाड द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में दी गई है।
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.