सिंगापुर के उप प्रधानमंत्री लॉरेंस वोंग के साथ मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल की गांधीनगर में शिष्टाचार भेंट। सिंगापुर-भारत-गुजरात व्यापार-औद्योगिक-सेतु को और मजबूत किया जाएगा।
गिफ्ट सिटी के एन. एस. ई. -एस. जी. एक्स. में सिंगापुर की फाइनेंशियल कंपनियों के कारोबार के साथ गुजरात में फिनटेक-ग्रीन पावर-रिन्यूएबल एनर्जी-रिसर्च फाइनेंस सेक्टर में भी भारी निवेश की क्षमता है:- सिंगापुर के उप प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री का सबका साथ सबका विकास के मंत्र को
सिंगापुर के उद्योग जगत के निवेशकों ने भी राज्य के विकास में अवसर देकर साकार किया है- मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल
गांधीनगर। सिंगापुर के उप प्रधानमंत्री लॉरेंस वोंग तथा प्रतिनिधिमंडल ने गांधीनगर में मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल से शिष्टाचार भेंट की। इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल ने कहा कि सिंगापुर-भारत-गुजरात संबंधों को लंबी अवधि के निवेश के लिए अनुकूल माहौल तैयार किया है। हमने गुजरात में विदेशी निवेशकों-उद्यमियों के लिए एक मजबूत पारिस्थित तैयार किया है। एक बार जब वे निवेश के लिए आते हैं, तो गुजरात उनका स्थायी पसंद बन जाता है।
सिंगापुर के उप प्रधान मंत्री ने मुख्यमंत्री के साथ बातचीत के दौरान कहा कि वे पहली बार गुजरात आये हैं और राज्य के बुनियादी ढांचे सहित विभिन्न क्षेत्रों के विकास से प्रभावित हुए हैं। वहीं श्री लॉरेंस वोंग ने गुजरात में व्यापार, निवेश, वित्त के क्षेत्र में सिंगापुर के निवेशकों-उद्यमियों द्वारा किए गए निवेश का विवरण दिया।
मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल ने सिंगापुर के उप प्रधान मंत्री का गुजरात में स्वागत करते हुए कहा कि भारत, गुजरात और सिंगापुर के बीच संबंध लंबे समय तक निवेश, व्यापार और उद्योगों को प्रोत्साहित करने वाला हर्षोल्लास रहा है। इस संदर्भ में मुख्यमंत्री ने साफ तौर पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में गुजरात ने ऐसा मजबूत ईको सिस्टम बनाया है कि एक बार दूसरे देशों के निवेशक-व्यवसायी निवेश के लिए गुजरात आ जाएं तो गुजरात उनकी स्थायी पसंद बन जाता है।
मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सिंगापुर सहित अन्य देशों के औद्योगिक निवेशकों को आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने के लिए राज्य सरकार का दृष्टिकोण हमेशा सकारात्मक रहा है। श्री भूपेंद्रभाई पटेल ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्रभाई मोदी द्वारा दिए गए सबका साथ, सबका विकास के मंत्र को साकार करने में यह यूको सिस्टम उपयोगी साबित हुआ है। उन्होंने सिंगापुर के उप प्रधान मंत्री को अपनी अगली यात्रा पर स्टैच्यू ऑफ यूनिटी देखने के लिए एक प्रेरक सुझाव भी दिया। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि वाइब्रेंट समिट्स की श्रृंखला में सिंगापुर की भागीदारी भविष्य में भी जारी रहेगी।
सिंगापुर के उप प्रधान मंत्री श्री लॉरेंस वोंग ने कहा कि गुजरात सिंगापुर के लिए दूसरा सबसे बड़ा निवेश गंतव्य है। इतना ही नहीं, गुजरात में सक्रिय सिंगापुर के सभी कारोबारी निवेशक माहौल को बढ़ावा देने वाली सरकार की नीतियों से पूरी तरह संतुष्ट हैं। श्री लॉरेंस वोंग ने उल्लेख किया कि वित्त, परिवहन, बुनियादी ढांचा जैसे क्षेत्रों के उपरांत फिनटेक, हरित ऊर्जा, हाइड्रोजन ऊर्जा जैसे क्षेत्रों में भी गुजरात-भारत में भी भारी निवेश की संभावनाएं हैं। वहीं सिंगापुर के उप प्रधान मंत्री ने भी मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल को सिंगापुर आने का सौहार्दपूर्ण निमंत्रण दिया। उन्होंने कहा कि इस यात्रा से सिंगापुर के व्यवसायों, उद्योगों, निवेशकों को भारत और विशेष रूप से गुजरात में निवेश करने के लिए एक नया बढ़ावा मिलेगा।
 सिंगापुर के उप प्रधानमंत्री की इस यात्रा-बैठक में मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल , वित्त मंत्री कनुभाई देसाई, मुख्य सचिव पंकजकुमार, एनएसई के आशीषभाई, गिफ्ट सिटी के एमडी श्रीतपन रे, उद्योग विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजकुमार, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव पंकज जोशी, ऊर्जा विभाग अग्र सचिवश्री ममता वर्मा, उद्योग आयुक्त राहुल गुप्ता सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.