मुंबई में हिंदी पत्रकार भवन बनाने का मुख्यमंत्री ने दिया आश्वासन। पराडकर स्मारक को लेकर भी हुई चर्चा।

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में हिंदी पत्रकार भवन बनाने का आश्वासन दिया है। बुधवार को हिंदी दिवस पर अपने सरकारी निवास नंदनवन में आमंत्रित मुंबई हिंदी पत्रकार संघ सहित अन्य हिंदीभाषी पत्रकारों की उपस्थिति में मुख्यमंत्री शिंदे ने यह आश्वासन दिया।सर्वप्रथम सभी हिंदीभाषी पत्रकारों को हिंदी दिवस की शुभकामनाएं देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मुंबई में हिंदी पत्रकार भवन बनाने की मांग को पूरा किया जाएगा। इसके पहले मुंबई हिंदी पत्रकार संघ के अध्यक्ष आदित्य दुबे, संयुक्त सचिव राजकुमार सिंह ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के समक्ष मुंबई में हिंदी पत्रकार भवन भवन का मामला उठाया। आदित्य दुबे ने कहा कि मुंबई में हिंदी भाषी पत्रकारों की तादाद बहुत बड़ी है और सभी को एक हिंदी पत्रकार भवन की कमी लगातार महसूस होती है। राजकुमार सिंह ने कहा कि मुंबई हिंदी पत्रकार संघ इस संबंध में लगातार प्रयास कर रहा है। संघ की इस मांग को तुरंत मान्य करते हुए मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि आश्वासन दिया कि मुंबई में हिंदी पत्रकार भवन बनाया जाएगा।

पराडकर स्मारक को लेकर भी हुई चर्चा।

मुंबई हिंदी पत्रकार संघ के अध्यक्ष आदित्य दुबे ने मुख्यमंत्री के समक्ष हिंदी पत्रकारिता के पुरोधा और दैनिक “आज” के संपादक रहे बाबूराव विष्णु पराडकर के सिंधुदुर्ग स्थित मूल गांव पराड गांव में स्मारक बनाने का मुद्दा भी उपस्थित किया। दुबे ने कहा कि इसी मांग के सिलसिले में काशी पत्रकार संघ का एक प्रतिनिधिमंडल मुंबई आ रहा है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात कर पराड में स्मारक बनाने पर सहमति प्रकट की। कार्यक्रम का आयोजन शिवसेना कल्याण शहर प्रमुख एवं मीडिया कोऑर्डिनेटर सीपी मिश्रा ने किया था। इस अवसर पर मुंबई हिंदी पत्रकार संघ के सदस्य मनोज दुबे, सोनू श्रीवास्तव, अखिलेश तिवारी के अलावा इंद्रजीत सिंह, आरबी यादव, सोमदत्त शर्मा, अश्विनी पांडे, सूर्य प्रकाश मिश्रा, अरुण उपाध्याय, जितेंद्र मिश्रा आदि उपस्थित थे।

Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.