वापी की विवाहिता को परेशान करने वाले ससुराल वालों को 181 अभयम की टीम ने काउंसिल किया.
ससुराल वाले यह कहकर प्रताड़ित करते थे कि “तुम पनोती है, घर में तुम्हारे पैर रखने से हम बर्बाद हो गए हैं”.
वापी. वापी तालुका के एक गाँव में रहने वाली परिणीता सोनमबेन (बदला हुआ नाम) को उसके ससुराल वालों ने शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे थे. परिणीता ने 181 पर कॉल कर मदद की गुहार लगायी और 181 अभयम टीम के बताए गए पते पर  मदद के लिए पहुंच गई. सोनमबेन ने टीम को बताया कि वह एक पार्लर में काम करती है और उसका पति एक कंपनी में काम करता है. चूंकि घर के बड़ों को ससुराल में बच्चों की देखभाल करनी होती थी, इसलिए वे मुझसे इस बात को लेकर झगड़ते थे. मेरे ससुराल वाले अक्सर मुझे ताना मारते थे कि “तुम एक पनोती है, घर में पैर रखने के बाद हम बर्बाद हो गए हैं”. इस मामले पर बात करने पर दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई. परिवार के इस तरह के बर्ताव से वह परेशान हो गई और उसने मदद के लिए 181 अभयम टीम को सूचना दी.  टीम ने सभी तथ्यों को जानने के बाद दोनों पक्षों की काउंसलिंग की और ससुराल वालों को अपनी गलती बताई. अब दुबारा सोनम को परेशान नहीं करेंगे इस बात का आश्वासन परिवार वालों ने 181 अभयम ने टीम को दिया. इसलिए दोनों पक्षों ने यह कहते हुए समझौता कर लिया कि सोनम कोई कार्रवाई नहीं करेगी.
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.