“गाली बंद अभियान ” के लिए सार्थक पहल. “जलधारा की टीम भी देगी सहकार्य “
“बेटियों को पूर्ण सम्मान देने के लिए गाली बंद करनी होगी क्योंकि घर समाज में हिंसा की शुरुआत गाली से ही होती है।” -सुनील जागलान
कृष्ण कुमार मिश्र
 मीरा रोड ,
       मुंबई से सटे मीरा रोड इलाके में सामाजिक कार्यों में सक्रिय बूंद बूंद को समर्पित एक गैर सरकारी संस्था जलधारा में आधी आबादी की लड़ाई लडने वाले हरियाणा के पूर्ण सरपंच सुनील जागलान (सरपंच जी) गाली बंद अभियान के बारे में जलमित्रों को विस्तार से जानकारी दी। बेटियों को पूर्ण सम्मान देने के लिए गाली बंद करनी होगी क्योंकि घर समाज में हिंसा की शुरुआत गाली से ही होती है।
जलधारा में बुधवार को सदिच्छा भेट करने सुनील जागलान पहुंचे तो जलमित्रों ने उनका जोरदार स्वागत किया। बेटी बचाओ अभियान की शुरुआत करने वाले जगलान का जलधारा के चेयरमैन स्वागत करते हुए कहा कि आपके अनुभव का फायदा जलमित्रों को मिला । जलधारा की डॉ प्रीति शर्मा, डॉ आर के शर्मा, व सुशील मिश्र ने अपने अनुभव जागलान जी से साझा किये। बेटियों को पीरियड के समय होने वाली परेशानी और जानकारी के बारे में डॉ शर्मा ने विस्तार से जानकारी दी साथ ही इस अभियान को और मजबूत करने का वादा भी किया। इस अवसर पर जलधारा से जुड़े हृदय सिंह, अनिल शुक्ला, नवीन पाठक, वरुण सिंह, शशि गौड, सुरेखा शर्मा, अभिनेता मुकुल नाग, वेद प्रकाश दुबे, मधु जी व युवराज शिंदे, मनोज शिंदे सहित कई अन्य जलमित्र मौजूद थे। बेटी बचाओ, बेटी पढ़़ाओ के चेयरमैन अजय दुबे ने जागलान जी को बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अवार्ड दिया, तो भरत मिश्र जी यथार्थ गीता भेट किया।
संक्षिप्त परिचय –
सुनील जागलान ने बेटी बचाओ से लेकर सेल्फ़ी विद डॉटर ,  बेटियों के नाम नेमप्लेट , पिरियड चार्ट , लडकीयों की शादी की उम्र 21 करने के लिए सैकड़ों अभियान शुरू किए हैं जो देश विदेशों में प्रशंसा पा चुके हैं । उनके सेल्फी विद डाटर अभियान को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इंटरनेशनल व भारतीय मंचों पर कई बार सराहा है। सुनील साधारण से प्रतीत होने वाले सैकड़ों अभियान चला चुके हैं, जिनका व्यापक असर हुआ है। वह उस आधी आबादी की लड़ाई बड़ी शिद्दत से लड़ रहे हैं, जिन्हें सालों तक मूलभूत आवश्यकताएं तक नहीं मिली।
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.