वलसाड तालुका के पीठा गांव में श्री गणेश जी का विसर्जन के बाद नदी में डूबने से एक की मौत.

देर रात मृतदेह बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए नजदीक के अस्पताल में ले जाया गया.
वलसाड के पीठा-सारंगपुर गांव के नजदीक पसार होने वाली औरंगा नदी में रविवार शाम को बहुत से गणेश मंडलों के आयोजकों ने संगीत के धुनों पर नाचते-गाते श्री गणेश जी के मूर्ति का विसर्जन करने के लिए पीठा गांव के नजदीक औरंगा नदी के किनारे पहुंचे थे. मंडल के सदस्यों द्वारा गणपति बप्पा मोरया के जयकारों के साथ अगल-बगल के क्षेत्र गुंजायमान हो उठे थे. मंडल के सदस्यों ने एक के बाद एक श्री गणेश की प्रतिमा का विसर्जन कर रहे थे. उस दौरान औरंगा नदी में एक व्यक्ति डूब गया. जो देर रात के बाद मृतदेह को बाहर निकाला गया और पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया गया.
गांव में शोक की लहर फैल गई.
वलसाड तालुका के पीठा गांव में निशाण फणिया में रहने वाला 48 वर्षीय राजू बाबूभाई देवीपूजक गणेश विसर्जन के लिए पीठ व सारंगपुर गांव के बीच स्थित औरंगा नदी पर गया हुआ था. उस दौरान विसर्जन करने के बाद राजूभाई नदी में से बाहर नहीं आया. उसके बाद मंडल के सदस्यों ने उसे खोजना शुरू कर दिया. जिसमें बहुत से स्थानीय युवकों ने भी नदी में ढूढ़ने लगे और किसी तरह राजूभाई को बाहर निकाला. इस घटना के बाद पीठा गांव के सरपंच विनोदभाई आहीर व कलवाडा गांव के एक जागरूक नागरिक मुकेशभाई पटेल घटना स्थल पर पहुंचे. इसके बाद स्थानीय लोगों ने तुरंत 108 एम्बुलेंस को बुलाया और उसमें डालकर अस्पताल पहुंचाया गया. परंतु वहां पर डॉक्टर ने राजूभाई को मृत घोषित कर दिया. इस घटना के बाद गांव में शोक की लहर फैल गई.
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.