वलसाड जिला में राष्ट्रीय पोषण माह-2022 के आयोजन के अंतर्गत जिला विकास अधिकारी मनीष गुरवानी की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया.
 स्वस्थ बाल प्रतियोगिता के विजेता बच्चों को जिला विकास अधिकारी द्वारा पोषण किट दी जाएगी.
वलसाड. भारत सरकार की महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा हर साल सितंबर के महीने में ‘राष्ट्रीय पोषण माह’ मनाया जाता है. वलसाड जिले में राष्ट्रीय पोषण माह-2022 समारोह की समुचित आयोजना हेतु जिला विकास अधिकारी मनीष गुरवानी की अध्यक्षता में आज जिला पंचायत के सभागार में बैठक की गयी. इस वर्ष ‘पोषण माह’ में ग्रामीण स्तर पर सरपंच व ग्राम पंचायतों को मुख्य आधार रखकर आदिवासी क्षेत्रों में महिलाओं के स्वास्थ्य, बच्चे और शिक्षा (पोषण भी पढाई भी), लिंग संवेदनशील, जल संरक्षण और प्रबंधन पर मुख्य ध्यान देने के रूप में सरपंच और ग्राम पंचायतों के साथ ग्राम स्तर पर ‘पोषण पंचायत’ बनाने पर ध्यान केंद्रित किया. महिलाओं और बच्चों के लिए पारंपरिक भोजन जैसे विभिन्न विषयों के तहत विभिन्न गतिविधियों और कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. वहीं स्वास्थ्य विभाग द्वारा विभिन्न गतिविधियों जैसे चिकित्सा शिविर, पहचान के लिए स्क्रीनिंग शिविर, महिलाओं और लड़कियों में मासिक धर्म स्वच्छता, एनीमिया की रोकथाम, उचित स्तनपान, मातृत्व देखभाल, किशोरों में मधुमेह निदान शिविर आदि, शिक्षा द्वारा पोषण मेलों के आयोजन के लिए कार्यक्रमों की योजना बनाना एवं खेल विभाग, चित्र प्रतियोगिता, निबंध प्रतियोगिता, आंगनबाडी बच्चों के लिए स्वस्थ शिशु प्रतियोगिता, जल संरक्षण एवं कृषि विभाग के माध्यम से जिला जल शक्ति केंद्र द्वारा आंगनबाडी केन्द्रों के घरों में वर्षा जल संचयन संरचनाओं की स्थापना, जल संरक्षण एवं प्रबंधन पर कार्यशाला, वर्षा जल संचयन तकनीक एवं ‘ महिला स्वास्थ्य’ ग्राम पंचायतों को उक्त पर ध्यान केंद्रित करते हुए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए गए. आदिवासी क्षेत्रों में पोषण माह के तहत जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे.
इस बैठक में मुख्य जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अनिल पटेल, आईसीडीएस की जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती ज्योत्सना पटेल, जिला शिक्षा अधिकारी के.एफ. वसावा, प्राथमिक जिला शिक्षा अधिकारी बी.डी. बारीया, महिला एवं बाल विकास अधिकारी कमलेश गिराशे एवं संबंधित विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे.
 स्वस्थ बाल प्रतियोगिता के विजेता बच्चों को जिला विकास अधिकारी द्वारा पोषण किट दी जाएगी.
पोषण माह के तहत बच्चों के विकास माप के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए 6 (छह) महीने से 3 (तीन) साल और 3 (तीन) साल से 5 (पांच) साल के बीच के बच्चों के लिए एक स्वस्थ बाल प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा. जिसमें विभिन्न योग्यता आधारित मानदंडों के आधार पर जिले से प्रथम तीन रैंक के लिए बच्चों का चयन किया जाएगा और विभिन्न पुरस्कार दिए जाएंगे. विजेता बच्चों को जिला विकास अधिकारी द्वारा एक पोषण किट दी जाएगी और इसके अलावा पुरस्कारों में एक स्वच्छता किट, पानी की बोतल, फलों की टोकरी और खिलौने भी दिये जायेंगे. वहीं प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी बच्चों को भी प्रोत्साहन उपहार के रूप में स्वच्छता किट और खिलौने दिए जाएंगे.
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.