हेरंबा इंडस्ट्रीज द्वारा दिव्यांगों के लिए नि:शुल्क शिविर का आयोजन किया गया.
वलसाड जिले के वापी जीआईडीसी और सरीगाम जीआईडीसी में एक प्रमुख रासायनिक उद्योग हेरंबा इंडस्ट्रीज ने अपने सीएसआर फंड के तहत वीआईए ऑडिटोरियम वापी में विकलांगों के लिए एक मुफ्त वितरण शिविर का आयोजन किया. इस शिविर में दूसरे दिन वलसाड जिले के अलावा नवसारी, सूरत, डांग, सेलवास से भी बड़ी संख्या में दिव्यांग पहुंचे. उन लोगों ने कहा कि उन्हें कोरोना काल में इस तरह के शिविर का लाभ नहीं मिला, इसलिए उन्होंने कई आपदाओं को सहन किया, भले ही उनके पुराने उपकरण खराब हो गए हों. अब इन नए उपकरणों के साथ कंपनी और संगठन ने उन्हें सामान्य प्रवाह में वापस ला दिया है. वापी जीआईडीसी और सरीगाम जीआईडीसी में हेरंबा इंडस्ट्रीज कंपनी के अध्यक्ष एस. के. शेट्टी और एमडी आर. के. शेट्टी के मार्गदर्शन में वीआईए ऑडिटोरियम वापी में सीएसआर फंड के तहत तीन दिवसीय नि:शुल्क शिविर का आयोजन किया गया था. इस शिविर का उद्देश्य उन व्यक्तियों को मुफ्त कृत्रिम अंग और उपकरण प्रदान करना है जो दुर्घटनाओं में अंग खो चुके हैं या पोलियो जैसी बीमारियों से विकलांग हैं.
भारत के प्रसिद्ध रत्न निधि चैरिटेबल ट्रस्ट के सहयोग से आयोजित इस तीन दिवसीय नि:शुल्क शिविर के दूसरे दिन बड़ी संख्या में दिव्यांग अपने पुराने कैलिपर्स या जयपुर फुट को बदलकर नए कैलीपर्स लगाने पहुंचे. कुछ लोगों को पहली बार इन उपकरणों का उपयोग करने से लाभ हुआ. जिन्होंने कंपनी के अनुकरणीय कार्य की प्रशंसा की.
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.