वलसाड जिले के धरमपुर में प्रधानमंत्री नरेन्द्रभाई मोदी ने 200 करोड़ की लागत से बने श्रीमद राजचंद्र अस्पताल का वर्चुअल उद्घाटन किया.
 110 करोड़ रुपए की लागत से पशु अस्पताल व सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर वीमेन की आधारशिला रखी.
नये अस्पताल स्वास्थ्य के क्षेत्र में सबका प्रयास भावना को मजबूत बनाते हैं- प्रधानमंत्री नरेंद्रभाई मोदी
महिलाओं, आदिवासियों, वंचितों के सशक्तिकरण के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाले लोग देश की चेतना को जीवित रख रहे हैं- प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी
श्रीमद राजचंद्र मिशन ने आदिवासी क्षेत्रों में दिखाई सेवा – मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल
श्रीमद राजचंद्र ने मानव सेवा व पशुओं की सेवा से दया की प्रेरणा दी है- मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल
धरमपुर. “जिसका कर्तव्य और गुरुधर्म अमर रहे, जिसकी ऊर्जा और प्रेरणा अमर रहे, पीढ़ियों तक समाज की सेवा करते रहे, ऐसे ही श्रीमद राजचंद्र मिशन शाश्वत भावना का प्रतीक है. धरमपुर में मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल के शुभारंभ के साथ पशु चिकित्सालय और सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर वीमेन की आधारशिला रखी गई. इससे दक्षिण गुजरात के आदिवासियों को लाभ होगा. श्रीमद राजचंद्र एक मूकसेवक के रूप में जो समाज सेवा के बीज बोए थे, वे आज बरगद के पेड़ बन गए हैं” उपरोक्त प्रेरक शब्द श्रीमद राजचंद्र मिशन द्वारा दिए गए थे. वलसाड जिले के धरमपुर में श्रीमद राजचंद्र मिशन द्वारा 200 करोड़ की लागत से निर्मित 250 बिस्तरों वाले मल्टी स्पेशियलिटी श्रीमद राजचंद्र चैरिटेबल अस्पताल के वर्चुअल उद्घाटन के अवसर पर उपस्थित प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि श्रीमद राजचंद्र मिशन से मेरा पुराना नाता है. जब मैं धरमपुर और सिदुंबर में आया करता था और दशकों पहले आपके बीच में रहा करता था.  इस महान भूमि, इस पवित्र भूमि ने हमें समाज को जो कुछ भी दिया है, उसका एक अंश भी लौटा दें तो समाज बहुत तेजी से बदलेगा और इससे देश मजबूत बनेगा. अस्पताल और अनुसंधान केंद्र ग्रामीण क्षेत्रों को उत्कृष्ट सेवा प्रदान करने जा रहा है, जो स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव में भारत को स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में सशक्त बनाएगा.  दक्षिण गुजरात के आदिवासी क्षेत्रों में सेवा की ज्योति जलाने वाले आश्रम के गुरूदेव राकेश जी व पूरे मिशन और सेवकों को बधाई देता हूं. राजचंद्र मिशन ग्रामीण क्षेत्रों में सराहनीय सेवा कार्य कर रहा है. श्रीमद राजचंद्र एक दिव्य पुरुष थे, जो एक युगपुरुष थे. गांधीजी कहते थे कि हमें कई जन्म लेने हैं लेकिन श्रीमद राजचंद्र के लिए एक जीवन काफी है. गांधीजी को श्रीमद राजचंद्र से आध्यात्मिक चेतना प्राप्त होती थी. देश उनका ऋणी है. श्रीमद राजचंद्र मिशन महिला सशक्तिकरण में योगदान देकर आदिवासी बहनों के जीवन को समृद्ध बना रहा है. प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि जिन लोगों ने महिलाओं, आदिवासियों और वंचितों के सशक्तिकरण के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया है, वे देश की चेतना को जीवित रख रहे हैं. महिलाओं के लिए उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना के रूप में एक बड़े कदम का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि श्रीमद राजचंद्रजी शिक्षा और कौशल के माध्यम से लड़कियों को सशक्त बनाने के लिए बहुत उत्सुक थे. उन्होंने आगे कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव में देश की नारी शक्ति को राष्ट्रीय शक्ति के रूप में आगे लाना हम सबकी जिम्मेदारी है.
इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित राज्य के मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल ने कहा कि श्रीमद राजचंद्र मिशन ने आदिवासी क्षेत्रों में सेवा की भावना दिखाई है. श्रीमद राजचंद्र ने मनुष्यों और जानवरों के लिए सेवा और दया की प्रेरणा दी है. इस मिशन ने अध्यात्म का द्वार खोल दिया है. गुरुदेव राकेश जी की प्रेरणा से श्रीमद राजचंद्र आश्रम उन लोगों के लिए तीर्थ स्थान बन गया है जो आध्यात्मिक के साथ-साथ सेवा कार्य भी कर रहे हैं. निरंतर विकास यात्रा ने गुजरात को विश्व पटल पर ला खड़ा किया है. गुजरात सबके सहयोग और विकास का आदर्श बन गया है. साथ ही मुख्यमंत्री ने सभी से हर घर तिरंगा अभियान में भाग लेने और घर, दुकान और कार्यालय में तिरंगा फहराने का अनुरोध किया.
इस पावन अवसर पर राज्य के वित्त मंत्री कनुभाई देसाई ने कहा कि श्रीमद राजचंद्र जी ने गांधी जी को आध्यात्मिक ज्ञान दिया और राकेश जी जैसे गुरु दिए जिन्होंने आदिवासी क्षेत्र में मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल शुरू कर छोटे से छोटे व्यक्तियों का इलाज कराने का प्रयास किया. श्रीमद राजचंद्र आश्रम के गुरुदेव श्री राकेश जी ने आशीर्वाद देते हुए कहा कि देश की निरंतर सेवा में लीन मोदी जी ने अपना जीवन लोक कल्याण के कार्यों में समर्पित कर दिया है. जिसके लिए न केवल श्रीमद राजचंद्र मिशन बल्कि भारतवर्ष के जनता जनार्दन भी आभारी हैं. मिशन हर घर तिरंगा अभियान में भी प्रतिबद्ध है.
इस उद्घाटन समारोह के दौरान 70 करोड़ रुपये की लागत से 150 वार्डों का पशु अस्पताल बनेगा. 40 करोड़ की लागत से बनने वाले सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर वूमेन की आधारशिला भी रखी गई. मुख्यमंत्री एवं नवसारी सांसद सी.आर. पाटिल द्वारा अस्पताल सहित विभिन्न परियोजनाओं को साकार करने के लिए श्रीमद राजचंद्र मिशन को उदारतापूर्वक दान देने वाले दानदाताओं को भी सम्मानित किया गया. समारोह में वलसाड जिला प्रभारी एवं आदिवासी विकास मंत्री नरेशभाई पटेल, जलापूर्ति मंत्री जीतूभाई चौधरी, राज्य के कृषि एवं ऊर्जा मंत्री मुकेशभाई पटेल, वलसाड जिला पंचायत अध्यक्षा अलकाबेन शाह, वलसाड विधायक भरतभाई पटेल, धरमपुर विधायक अरविंदभाई पटेल. उमरगांव विधायक रमनभाई पाटकर, श्रीमद राजचंद्र मिशन ट्रस्टी अभयभाई जसानी सहित न्यासी मंडल के सदस्य एवं बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे.
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.