वलसाड जिले में 3.33 करोड़ रुपये की लागत से 18 एम्बुलेंस का वित्त मंत्री श्री कनुभाई देसाई, आदिवासी मंत्री श्री नरेशभाई पटेल एवं जलापूर्ति मंत्री श्री जीतूभाई चौधरी की उपस्थिति में लोकार्पण किया गया.
जिन लोगों का मां-आयुष्मान कार्ड बंद हो गया था, ऐसे 55 हजार लोगों के इलाज का 122 करोड़ रुपये के बिल का भुगतान करने का निर्णय लिया गया है- मंत्री कनुभाई देसाई
पहले 20 से 30 लाख रुपये में पीएचसी बनता था और आज उपकेंद्र व पीएचसी में 90 लाख रुपये से 1 करोड़ रुपए की लागत से सुविधा युक्त बन रही है- मंत्री श्री नरेशभाई पटेल
 कोरोना काल में कितनी कठिनाईयों का सामना करना पड़ा, इस अनुभव से एम्बुलेंस की आवश्यकता का अंदाजा लगाया जा सकता है-  मंत्री जीतूभाई चौधरी
 वलसाड।  प्रधानमंत्री श्री नरेंद्रभाई मोदी वर्ष 2002 में गुजरात के मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने मां आरोग्य कार्ड और माँ वात्सल्य कार्ड की सुविधा प्रदान की ताकि राज्य का कोई भी नागरिक इलाज से वंचित न रहे. प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने समग्र देश की आरोग्य चिंता करके आयुष्मान कार्ड दिया. आज हर परिवार को हिम्मत है कि परिवार के सदस्यों को कुछ हुआ तो 5 लाख रुपए तक के खर्च की चिंता नहीं है. वहीं राज्य सरकार ने एक कदम और आगे बढ़कर जिन लोगों का कार्ड बंद हो गया था ऐसे 55 हजार लोगों को 122 करोड़ रुपए के इलाज के बिल का भुगतान करने का भी फैसला कल लिया गया है. इसलिए सरकार हर नागरिक के स्वास्थ्य के लिए प्रतिबद्ध है. यह बात वित्त, ऊर्जा एवं पेट्रोरसायन राज्य मंत्री श्री कनुभाई देसाई ने वलसाड के सिविल अस्पताल के सभागार में आयोजित 18 एम्बुलेंस के लोकार्पण के अवसर पर कही.  इस अवसर पर जनजातीय विकास, खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग राज्य मंत्री श्री नरेशभाई पटेल और नर्मदा जल संसाधन, मत्स्य पालन एवं कल्पसर संभाग के जल आपूर्ति राज्य मंत्री श्री जीतूभाई चौधरी उपस्थित थे.
मंत्री श्री कनुभाई ने आगे कहा कि कोरोना काल में जब अन्य देश महामारी से हार गया था, तब प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र भाई मोदी ने पूरे देश को महामारी से लड़ने के लिए एकजुट होने का मंत्र दिया. पहले वैक्सीन दूसरे देशों में बनती थी और भारत में आते-आते 10 वर्ष बीत जाता था. लेकिन प्रधानमंत्री ने हमारे देश के वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाया और स्वदेशी वैक्सीन बनाने में कामयाबी हासिल की. जिसे देशवासियों को मुफ्त में उपलब्ध कराया गया और दूसरे देशों को भी दिया गया जिसे पूरी दुनिया ने देखा. आज जैसे-जैसे भारत फिर से संगठित हो रहा है और रफ्तार पकड़ रहा है, अर्थव्यवस्था भी पूरी रफ्तार से चल रही है.
आदिवासी मंत्री श्री नरेशभाई पटेल ने कहा कि राज्य सरकार सभी के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित है और अच्छा इलाज और बुनियादी ढांचा उपलब्ध करा रही है. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र निजी अस्पतालों के साथ प्रतिस्पर्धी होते जा रहे हैं. पूर्व में 20 से 30 लाख रुपये में बनते थे पीएचसी, आज इतनी कीमत में बन रहे हैं सब सेंटर जबकि पीएचसी अब 90 लाख रुपये से एक करोड़ की सुविधा दी जा रही है. पहले सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों और स्टाफ की कमी थी, आज सभी जगह भर गए हैं. मंत्री ने जिला विकास अधिकारी मनीष गुरवानी को बधाई देते हुए कहा कि जिला विकास अधिकारी गुरवानी ने आज शुरू की गई 18 एंबुलेंस में अहम योगदान दिया है. उन्होंने सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत अनुदान से एंबुलेंस खरीदी है. ऐसा सराहनीय कार्य विरले ही किसी जिला विकास अधिकारी द्वारा किया जाता है.
राज्य मंत्री श्री जीतूभाई चौधरी ने दहेरी ग्राम पंचायत के स्व-वित्तपोषित अनुदान से दहेरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए दहेरी गांव और उमरगाम तालुका पंचायत सामाजिक न्याय समिति के अध्यक्ष दिनेशभाई माह्यावंशी, सदस्य नितिनभाई कामणी, सरपंच धनेश दुबणा और उपसरपंच उमेश सोलंकी व उनकी पूरी टीम को एम्बुलेंस अनुदान आवंटित करने के लिए आभार प्रकट किया. मंत्री ने पीडीलाइट इंडस्ट्रीज लिमिटेड की 2 एम्बुलेंस के लिए सीएसआर फंड से 32 लाख रुपये देने के लिए उनका शुक्रिया भी अदा किया. इस मौके पर मंत्री ने कहा कि ऐसा पहली बार हो सकता है कि किसी ग्राम पंचायत ने अपने फंड से एंबुलेंस के लिए पैसा दिया हो. आगे मंत्री ने कहा कि हमें कोरोना काल में जिन कठिनाइयों का सामना करना पड़ा तब पता चला है कि एम्बुलेंस की जरूरत कितनी महत्वपूर्ण है.
जिला विकास अधिकारी मनीष गुरवानी ने कहा कि वलसाड जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर एंबुलेंस की सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से विभिन्न योजनाओं के तहत अनुदान से 23 एंबुलेंस खरीदने का कार्य पारदर्शी प्रशासन के साथ पूरा कर लिया गया है. जिनमें से 18 एंबुलेंस का आज लोकार्पण होने जा रहा है. बाकी 5 एंबुलेंस को जल्द ही जिले में पहुंचाया जाएगा.
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अलकाबेन शाह, सांसद डाॅ. केसी पटेल, जिला पंचायत उपाध्यक्ष मनहरभाई, जिला परिषद कार्यकारी अध्यक्ष गुलाबभाई राउत, जिला परिषद स्वास्थ्य समिति की अध्यक्षा रंजनबेन पटेल, वलसाड विधायक भरतभाई पटेल, धरमपुर विधायक अरविंदभाई पटेल, उमरगाम विधायक रमनलाल पटेल, पीडी लाइट इंडस्ट्रीज लिमिटेड मुंबई के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (सीएसआर) डॉ. पंकजकुमार शुक्ला और जिला संगठन अध्यक्ष हेमंतभाई कंसारा, उमरगाम तालुका पंचायत के सामाजिक न्याय समिति के अध्यक्ष दहेरी के दिनेशभाई माह्यावंशी, ग्राम सरपंच धनेश दुबला सहित सभी तालुका पंचायतों के अध्यक्ष और तालुका विकास अधिकारी और पदाधिकारी उपस्थित थे.
स्वागत भाषण मुख्य जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अनिल पटेल एवं आभार अपर जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. विपुल गमीत ने किया. जबकि पूरे कार्यक्रम का संचालन वलसाड रक्तदान केंद्र के सहायक निदेशक भावेशभाई रायचा ने किया. कार्यक्रम के अंत में मंत्रियों द्वारा हरी झंडी दिखाकर 18 एंबुलेंस को रवाना किया गया.
Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.