जीवन में लोकप्रियता और शोहरत हमेशा किसी के साथ नहीं रहती। कब आती है और कब रूठ जाती है कोई नहीं जानता। शोहरत जिसे आकाश पर पहुंचाती है, फिर उसे फर्श पर भी ला देती है। कई चेहरे ऐसे होते हैं जो हमारी जिंदगी में शामिल हो जाते हैं, फिर हम चाहें या न चाहें, वे वर्षों तक चर्चा में रहते हैं। ऐसे ही हमेशा जनता- जनार्दन के बीच चर्चा में रहने वाले मुंबई के पूर्व महापौर, विधायक रहे तथा वर्तमान में दिंडोंशी विधानसभा के शिवसेना उम्मीदवार सुनील प्रभू से उनके कार्यालय में मुलाकात हुई। चुनाव प्रचार के दरम्यान थोड़ा सा समय निकाल कर आफिस में लोगों से रूबरू हो रहे थे। इतनी व्यस्तता के बावजूद बातचीत करने का मौका मिला। प्रभू जी का स्वभाव बहुत ही मिलनसार है, वे जिससे भी मिलते हैं उसे अपना बना लेते हैं। उनके चाहने वालों से आफिस खचाखच भरा हुआ था, या यूं कहें कि यह परंपरा कई वर्षों से चली आ रही है जहां बिना स्वार्थ के लोगों की सेवा की जाती है। परिचित-अपरिचित सभी से मृदुल मुस्कान लिए बड़ी आत्मीयता और आत्मविश्वास के साथ वे मिल रहे थे। प्रभू जी से कई मुद्दों पर चर्चा भी हुई। बड़ी ही सरलता से और मुस्कुराते हुए जवाब दिए। मुस्कुराहट में बड़ी शक्ति होती है। मुस्कुराने की क्षमता वही रखता है, जिसकी जैसी सोच होगी वैसा ही व्यवहार परिलक्षित होगा। बहुत से लोग चुनाव में खड़े होने व कुछ पाने के लिए लोगों की सेवा करते हैं, परंतु सुनील प्रभू जी एक सकारात्मक सोच के साथ अपने क्षेत्र में लोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए प्रयासरत हैं।

 

जब ये महापौर थे तो इन्होंने मुंबई के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, इसके बाद जब दिंडोंशी के विधायक बने तो दिंडोंशी विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए अनुकरणीय उदाहरण पेश किया। इस क्षेत्र की जनता की स्वास्थ्य – सुविधाओं का ध्यान रखते हुए डायलिसिस सेंटर, प्रसूति अस्पताल, स. का. पाटिल अस्पताल की इमारतों का जीर्णोद्धार, तथा लोगों की सुख-सुविधाओं के लिए संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान के वन भूमि से जाने वाली प्रस्तावित सड़क को यातायात के लिए खोलने सहित कई सड़कों का निर्माण कार्य, पानी जैसी समस्याओं के निराकरण के लिए पुरानी पाइप लाइनों को बदलकर नई पाइपलाइन लगवाना। इसके अलावा शिक्षा के क्षेत्र में आधुनिक सुविधाओं को भी उपलब्ध कराया, जिसकी वजह से आज दिंडोंशी विधानसभा क्षेत्र के विद्यार्थी लाभान्वित हो रहे हैं। बच्चों व बुजुर्गों के लिए सुविधा रहित गार्डन, युवाओं के लिए जिमखाना, लाइब्रेरी तथा वन भूमि पर बसे हुए लोगों के लिए स्थायी पुनर्वास सहित कई योजनाएं सुनील प्रभू ने शुरू करवाई है जो आने वाले दिनों में पूरा हो जाएगा। इसके साथ ही दिंंडोंशी क्षेत्र में लोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए हमेशा प्रयासरत रहते हैं। इसके अलावा प्रति वर्ष गरीब विस्तार में अनाज, कपड़ा, कंबल व स्वेटर का वितरण व दर वर्ष हजारों विद्यार्थियों को मुफ्त नोटबुक वितरण तथा कुदरती हादसा के दरम्यान अनाज, कपड़ा एवं अन्य जरूरत की चीजों का वितरण किया जाता है। इस सकारात्मक सोच के साथ सुनील प्रभू जी हमेशा लोगों की सेवा के लिए तत्पर रहते हैं । सकारात्मक सोच हमें लोकहित के लिए प्रेरित करती है। सकारात्मक विचार हमें एक दूसरे के करीब लाते हैं और कई लोग सही दिशा – निर्देश भी देते हैं। अगर चेहरे की मुस्कुराहट के साथ व्यवहार में गर्मजोशी हो, तो ऐसी मुलाकात अविस्मरणीय बन जाती है।

Print Friendly, PDF & Email

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.